Constituency-wise Result Finder : General Elections India
देवरिया में जीत को लेकर आश्वस्त है अपनी जमीन से बेदखल किए कलराज मिश्र
Publish Date :
03/27/2014

 लखनऊ । भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में टंडन जोशी समेत जिन नेताओं को अपनी जमीन से उखाड़ा है उनमे से एक कलराज मिश्र है जो अपने निर्वाचन क्षेत्र देवरिया जाने की तैयारी में जुटे हुए है । दोपहर में उनसे उनके गौतम पल्ली स्थित आवास पर बातचीत हुई । वे अपने दर्जी से फोन पर बात कर रहे थे कि आठ दस आधी बांह के कुर्ते बनवाने है चुनाव प्रचार के दौरान पहनने के लिए । यह पूछने पर कि क्या यह मोदी का असर है ,इसपर कलराज मिश्र का जवाब था -नहीं ,आपको पता है मई में में चुनाव है और अभी से गर्मी पड़ रही है इसलिए यह इंतजाम कर रहा था। वैसे भी हम तो आधी बांह के कुरते बहुत सालों से पहनते है । 
देवरिया में सूर्य प्रताप शाही के विरोध के बीच आप चुनाव लड़ने जा रहे है ,आपको बाहरी उम्मीदवार कहा जा रहा है ? 
यह सही नहीं है । देवरिया का प्यासी गाँव हम लोगों का पुस्तैनी गाँव है । संघर्ष किया और वहां की जेल में रहा । इसलिए देवरिया में बाहरी नहीं हूँ । 
देवरिया में जीत का आंकड़ा किस पर निर्भर है ? सभी लोग साथ है । पौने दो लाख ब्राह्मण है । राजपूत और पिछड़ी जातियों का समर्थन भाजपा को है । योगी आदित्यनाथ उस अंचल के प्रभावी नेता है जिनका काफी असर है । दुसरे समाजवादी पार्टी की सरकार और उनके उम्मीदवार बालेश्वर यादव के प्रति नाराजगी भी है । यादव तो तो खुल कर कह रहे है कि छोटे चुनाव में नेताजी को वोट दिया बड़े चुनाव में मोदी को 
देंगे । 
कलराज मिश्र की यह टिपण्णी गौर करने वाली है । भाजपा के चुनाव अभियान की कमान संघ परिवार के हाथों में है और किसी बात को ढंग से प्रसारित करने की कला में वे दक्ष भी है । याद होगा कि कुछ साल 
पहले समूचे देश में गणेश जी ने दूध पिया था । यह इसलिए याद आया कि कई जगह से यह रपट मिल रही है कि यादव बिरादरी ने छोटे चुनाव में नेताजो को वोट दिया और बड़े में मोदी को देने जा रहे है । 
अचानक प्रदेश के एक कोने का यादव दूसरे कोने के यादव से इस मामले में किस तरह एकमत हो गया यह समझना मुश्किल लग रहा है । वैसे भी पूरब का यादव पश्चिम के यादव से जलता है क्योंकि समाजवादी 
पार्टी का ज्यादा जोर कन्नौज इटावा एटा और मैनपुरी की तरफ ज्यादा रहता है । बहरहाल कलराज मिश्र ने देवरिया के पंडित रामचंद्र शुक्ल कालोनी में एक बाबू साहब का मकान ले लिया है जिसमे बड़ी पार्किंग के 
साथ गौशाला आदि भी है । वही वे ठहरेंगे । बोले -आप चुनाव कवरेज के लिए आएं तो वहां या कुशीनगर में रुके । 
भाजपा में जिस तरह बड़े बड़े नेता अपनी जमीन से उखाड़े जा रहे है उससे कार्यकर्त्ता भी नाराज है ,इसका असर चुनाव पर भी पड़ेगा ?
नहीं ,थोडा बहुत चलता रहता है कुछ समय में ठीक हो जाएगा । इस बार मोदी जी को लेकर एक उत्साह है जिसके चलते भाजपा को पूर्वांचल में फायदा होता नजर आ रहा है । सपा सरकार ने ने जिस तरह मुस्लिम तुष्टिकरण किया उसकी नाराजगी के चलते भाजपा का जन समर्थन बढ़ रहा है । तभी देवरिया से आए एक कार्यकर्त्ता ने टिपण्णी की कि कलराज जी के देवरिया से लड़ने की वजह से भाजपा में उत्साह बढ़ गया है । अब यह सीट वीआईपी हो गई है । कलराज मिश्र वरिष्ठ होने के नाते मोदी के मंत्रिमंडल में मंत्री बनेंगे । इस वजह से कलराज मिश्र के प्रति लोगों का रुझान बढ़ रहा है । कार्यकर्त्ता यही नहीं रुका बोला -बाबूजी स्टेशन के सामने मैंने माहौल समझने की कोशिश की । कई लोगों से बात की तो एक ठो अंड बंड जवाब दे रहा था कभी बसपा वाले का नाम ले तो कभी सपा वाले का । तब मैंने नाम पूछा तो जो बताया उससे   सब समझ में आ गया । साथ के एक सज्जन ने छूटते कहा -अरे स्टेशनवा के सामने यह तो देवरिया का पकिस्तान कहा जाता है यह शायद अबुबकर नगर कहलाता । यहाँ तो जितने भी बहुसंख्यक रहते है सब भाजपा को वोट देते है और दुसरे लोग सपा , बसपा को । 
बहरहाल कलराज मिश्र देवरिया के कार्यकर्ताओं से संपर्क बढ़ाते जा रहे है और जल्द ही एक बड़ी जन सभा नरेंद्र मोदी की देवरिया में कराने की तैयारी में भी जुट गए है । वे जो नहीं कहना चाह रहे थे वह समझा  जा सकता है । मंदिर आन्दोलन के काफी समय बाद भाजपा को इस बार फिर हिंदुत्व की लहर दिखाई पड़ रही है और हर नेता उसी पर सवार होकर लोकसभा पहुंचना चाहता है । हां जो हिंदू नहीं है उसके लिए मोदी 
जी का गुजरात का विकास माडल है ।

जनादेश इलेक्टलाइन  कि  साझापहल 

 
 
अन्य खबरें
 

Cricket Live!

SunStar online
 
 
 

Electline Leader

Electline सेवाएं

Voters's view for election



आपके विचार से अगले चुनाव मे आपकी लोक सभा क्षेत्र से कौन सी पार्टी जीतेगी?

कृपया अपनी लोक सभा चुने