Constituency-wise Result Finder : General Elections India
मुश्किल में शीला, जानिए 70 हजार करोड़ के कॉमनवेल्थ घोटाले को
Publish Date :
02/07/2014

नई दिल्ली.  दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल उनके खिलाफ सख्ती के मूड में दिख रहे हैं। केजरीवाल ने सीधे तौर पर एंटी करप्शन ब्यूरो को कॉमनवेल्थ गेम्स घोटाला के एक मामले में शीला के खिलाफ जांच के निर्देश दिए हैं। सूत्रों के हवाले से खबर है कि केजरीवाल के निर्देश के बाद एंटी करप्शन ब्यूरो ने FIR तो दर्ज कर ली है, लेकिन उसमें शीला दीक्षित का नाम नहीं है। दरअसल, 2010 में हुए कॉमलवेल्थ गेम्स पर एक अनुमान के तौर पर 28, 054 करोड़ रुपये के खर्च की बात कही गई, लेकिन घोटाला कई गुना ज्यादा निकला। अनुमानित तौर पर यह घोटाला 70 हजार करोड़ का है। मामले में राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति के तत्कालिक अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी और महासचिव ललित भनोत समेत कई लोगों पर आरोप साबित हुए हैं।
 
गौरतलब है कि केजरीवाल ने हाल ही में एक बयान दिया था,  'जरा इंतजार कीजिए, कांग्रेस खुद पछताएगी कि उसने आम आदमी पार्टी (आप) को समर्थन क्यों दिया?' सियासी हलकों में इसे उसी इशारे के तौर पर देखा जा रहा है।
 
वर्ष 2010 के राष्‍ट्रमंडल खेलों के दौरान दिल्ली में स्ट्रीट लाइट की खरीद हुई थी, जिसमें तत्‍कालीन सीएम शीला दीक्षित और उनके पीडब्ल्यूडी मंत्री का नाम सामने आया था। इस वजह से सरकारी खजाने को 92 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था। इस प्रोजेक्‍ट को शीला दीक्षित ने ही मंजूरी दी थी।
 
सूत्रों के मुताबिक शहरी विकास मंत्री मनीष सिसौदिया ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस बारे में रिपोर्ट सौंपी है, जिस पर मुख्यमंत्री ने केस दर्ज करने का निर्देश दिया। अरविंद केजरीवाल दिल्ली विधानसभा के चुनाव प्रचार के वक्त से कहते आ रहे हैं कि वह शीला दीक्षित के खिलाफ जांच बिठाएंगे।
क्या है कॉमनवेल्थ घोटाला?
 
1. यूपीए-2 शासनकाल में हुए सबसे बड़े घोटालों में से एक है।
2. कॉमनवेल्थ गेम्स पर 28, 054 करोड़ रुपये के खर्च का अनुमान है। लेकिन घोटाला कई गुना ज्यादा निकला।
3. एक अनुमान के अनुसार यह घोटाला 70 हजार करोड़ का है।
4. राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति के तत्कालिक अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी पर घोटाले का आरोप है।
5. कलमाड़ी पर खेल आयोजन में खर्च की राशि बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने का आरोप है।
6. घोटाला मामले में कलमाड़ी इन दिनों जेल में बंद हैं।
7. खेल आयोजन समिति के तत्कालिक महासचिव ललित भनोत समेत 9 अन्य लोगों पर भी आरोप।
8. खेलों के दौरान कम से कम 37 सरकारी विभागों ने सार्वजनिक धन से चलाई गई 9,000 परियोजनाओं पर 13,000 करोड़ रुपए खर्च किए।

 
 
अन्य खबरें
 

Cricket Live!

SunStar online
 
 
 

Electline Leader

Electline सेवाएं

Voters's view for election



आपके विचार से अगले चुनाव मे आपकी लोक सभा क्षेत्र से कौन सी पार्टी जीतेगी?

कृपया अपनी लोक सभा चुने