Constituency-wise Result Finder : General Elections India
‘आप’ के धरने में लाठीचार्ज
Publish Date :
02/05/2014

रेल भवन के बाहर चल रहे केजरीवाल के धरने में हंगामा हो गया है। 'आप' समर्थकों ने पुलिस बैरिकेट तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश की जिसके बाद वहां अफरा-तफरी मच गई। लोगों को रोकने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।
आज सुबह केजरीवाल समर्थकों ने यहां बैरिकेड तोडऩे की कोशिश की जिसे पुलिस ने नाकाम कर दिया।
गृह मंत्रालय के खिलाफ धरने पर बैठे अरविंद केजरीवाल ने आम जनता से बड़ी तादाद में धरने में शामिल होने की अपील की।
लोगों को भीड़ को नियंत्रित करना पुलिस के लिए एक बड़ा टास्क बन गया है।
दिल्ली में केजरीवाल सरकार के धरना स्थल पर अफ़रा-तफ़री का माहौल बन गया है.

रफ़ी मार्ग के पास आप समर्थक बैरिकेड तोड़कर आगे बढ़ गए. इसके बाद कांस्टीट्यूशन क्लब के पास पुलिस और आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं में झड़पें शुरू हो गईं.
पुलिस ने धरनास्थल पर लोगों पर लाठीचार्ज किया. इसके बाद कुछ लोग धरना स्थल की ओर आए और कुछ बाहर की ओर भाग गए.
पुलिस ने धरना स्थल की ओर मार्च करना शुरू कर दिया है. आप कार्यकर्ताओं का कहना है कि लाठीचार्ज में कई लोगों के हाथ-पांव टूट गए हैं.
आप समर्थकों का यह भी आरोप है पुलिसकर्मियों ने बैरीकेड पर चढ़े लोगों को खींचकर नीचे गिरा लिया और उन्हें पीटा.
हालाँकि आप के नेता संजय सिंह ने समर्थकों से शांति की अपील की है, लेकिन साथ ही उन्होंने दिल्ली पुलिस की भी आलोचना की है.

'पुलिस की ग़लती'
कई घायल धरनास्थल पर ही पड़े हुए है और उन्हें अस्पताल ले जाने की कोशिश की जा रही है. लोग दिल्ली पुलिस के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी कर रहे हैं.
दिल्ली पुलिस का कहना है कि पांच एंबुलेंस मौके पर मौजूद हैं और दो रफ़ी मार्ग पर मौजूद हैं.

पुलिस का कहना है कि लाठीचार्ज नहीं किया गया है. आम आदमी कार्यकर्ताओं को पीछे धकेला गया है, हल्का बल प्रयोग किया गया है.
केजरीवाल सरकार की मंत्री राखी बिड़ला ने कहा कि यह सब पुलिस की ग़लती है, आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता बहुत सभ्य हैं, वह बैरीकेड तोड़ने जैसा काम नहीं करते.

जब पुलिस और आप कार्यरताओं के बीच झड़प हुई, तब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों के साथ रेल भवन के अंदर बैठक कर रहे थे.

धरने पर मुख्यमंत्री
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली पुलिस के चार अधिकारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग को लेकर सोमवार सुबह से रेल भवन के पास धरना दे रहे हैं.

सोमवार को केजरीवाल गृह मंत्रालय के बाहर धरना देने के लिए जा रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें रेल भवन के पास रोक दिया था. फिर केजरीवाल वहीं धरने पर बैठ गए थे.

मंगलवार सुबह उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, "दिल्ली के अंदर इतने अपराध हो रहे हैं तो शिंदे चैन की नींद कैसे सो सकते हैं. हम उन्हें चैन की नींद नहीं सोने देंगे."

दरअसल यह मामला दिल्ली सरकार के दो मंत्रियों सोमनाथ भारती और राखी बिड़ला के साथ दिल्ली पुलिस के तकरार से जुड़ा हुआ है.

भारती ने पिछले हफ़्ते दिल्ली पुलिस से दक्षिणी दिल्ली के एक घर पर ये कहकर छापा मारने की मांग की थी कि वहां वेश्यावृत्ति और नशीली दवाओं का धंधा होता है.

उनका कहना था कि दिल्ली पुलिस ने इस पर कोई कार्रवाई नहीं की. हालांकि दिल्ली पुलिस ने कहा कि रात के समय वो किसी महिला वाले घर में छापा नहीं मार सकती.

लेकिन बाद में उस घर में रहने वाली महिलाओं और अफ़्रीक़ी मूल के उनके कई साथियों ने आरोप लगाया कि मंत्री के साथियों ने औरतों के साथ अभद्र व्यवहार किया है.

भारती ने इन आरोपों से इनकार किया है.

दिल्ली पुलिस ने अदालत के आदेश पर अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ युगांडा की महिलाओं के साथ अभद्र व्यवहार के लिए एफ़आईआर दर्ज की है.

 
 
अन्य खबरें
 

Cricket Live!

SunStar online
 
 
 

Electline Leader

Electline सेवाएं

Voters's view for election



आपके विचार से अगले चुनाव मे आपकी लोक सभा क्षेत्र से कौन सी पार्टी जीतेगी?

कृपया अपनी लोक सभा चुने